JAC Board Solutions : Jharkhand Board TextBook Solutions for Class 12th, 11th, 10th, 9th, 8th, 7th, 6th

themoneytizer

    Jharkhand Board Class 6TH Civics Notes | आजीविका  

     JAC Board Solution For Class 6TH (Social Science) Civics Chapter 7


1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए।
(क) ................... ग्रामीणों का मुख्य पेंशन है।
(ख) भूमिहीन ग्रामीण से दूसरों की जमीन में काम पर जीवीकोपार्जन
करते हैं ................. कहलाते हैं।
(ग) ................. अपने परिवार के भरण-पोषण मात्र के लिए
फसलों को उपजाते हैं।
(घ) .................. कर्मचारियों की नौकरियाँ असुरक्षित होती है।
उत्तर― (क) कृषि (ख) पट्टेदारी खेती (ग) बड़े किसान
(घ) अस्थायी

2. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए―
(क) शहरी क्षेत्रों में लोगों की कीन्हीं पाँच आजीविकाओं
को लिखें?
उत्तर― शहरी क्षेत्रों में लोगों के पाँच आजीविका निम्नलिखित है―
(i) फुटपाथ व्यापारी
(ii) थोक एवं खुदरा व्यापारी
(iii) पेशेवर
(iv) नौकरी पेशा लोग
(v) अनियमित मजदूर

(ख) आजीविका किसे कहते है?
उत्तर― यहाँ पाये जाने वाले पेड़-पौधे, वन्य-उत्पाद, यहाँ की
फसलें थी। दूसरी चीजों के व्यापार से जीवनयापन करने को जीवन की
आजीविका कहते हैं। आजीविका के दो प्रकार होते हैं―
(i) ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका
(ii) शहरी आजीविका

(ग) स्थायी कर्मचारी को वेतन के अलावा किन-किन सुविधाओं
का लाभ मिलता है?
उत्तर― स्थायी कर्मचारी को वेतन के अलावा अन्य सुविधाएँ भी
मिलती है, जैसे सप्ताह में एक या दो दिन की छुट्टी एवं त्योहारों के समय
भी छुट्टी, चिकित्सा सुविधा तथा भविष्य के लिए बचत की सुविधा आदि।

(घ) खेतीहार मजदूर शहरों की ओर पलायन क्यों करते हैं?
उत्तर― गाँव में साल में कुछ ही महीना कृषि का कार्य होता है। अतः पूरे
वर्ष इन्हें कार्य नहीं मिलता, इसलिए वे शहरों में काम की तलाश में
पलायन करते हैं।

3. एक स्थायी एवं नियमित नौकरी, अस्थायी एवं अनियमित
नौकरी से किस प्रकार भिन्न है?
उत्तर― स्थायी एवं नियमित नौकरी : शहरों में रहने वाले लोगों
की संख्या काफी होती है। ये फैक्ट्री, कार्यालयों तथा बड़ी-बड़ी दुकानों
आदि में कार्य करते है। इनमें से कुछ स्थायी एवं नियमित तथा कुछ
अस्थायी कर्मचारी होते हैं। स्थायी कर्मचारियों को वेतन के अलावे अन्य
सुविधाएँ भी मिलती हैं, जैसे सप्ताह में एक या दो दिन एवं त्योहारों के
समय छुट्टी, चिकित्सा सुविधा तथा भविष्य के लिए बचत की सुविधा
आदि। कार्यालयों में कार्य करने वाले कर्मचारियों को एक दिन में एक
निश्चित समय तक काम करना पड़ता है। अन्य जगहों जैसे फैक्ट्रियों, बड़ी
दुकानों आदि में कार्यरत कर्मचारियों को इस प्रकार की सुविधा नहीं मिलती
है। उनकी नौकरियाँ प्रायः असुरक्षित होती हैं। ऐसे लोगों का काम की
आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए काम पर लगाया जाता है।

4. शहर के लोगों की आजीविकाएँ, ग्रामीण लोगों से किस
प्रकार अलग है?
उत्तर― ग्रामीण क्षेत्रों की आजीविका : भारत गाँवों का देश है,
जहाँ देश की कुल जनसंख्या का अधिकांश भाग निवास करता है। ग्रामीण
क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के लोगों की आजीविकाएँ भिन्न-भिन्न होती है।
फिर भी कृषि गाँव के लोगों का प्रमुख पेशा है। कृषि के अंतर्गत खेती एवं
बागवानी को शामिल किया जाता है। गांव में रहने वाले अधिकांश लोग
किसान होते हैं। अंततः ये सभी ग्रामीण समुदाय के अंग हैं।
          शहरी आजीविका : भारत में पाँच हजार से ज्यादा शहर एवं कई
महानगर है। दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता एवं चेन्नई जैसे प्रत्येक महानगर
में दस लाख से भी ज्यादा लोग रहते हैं और विभिन्न प्रकार के काम धंधे
करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि शहर में जिंदगी कभी रूकती नहीं हैं।
शहरों में विभिन्न प्रकार के लोगों की आजीविकाएँ अलग-अलग होती हैं।

                                             ■■

  FLIPKART

और नया पुराने

themoneytizer

inrdeal